क्रिप्टोक्यूरेंसी का परिचय

निवेश क्या है?

निवेश क्या है?
बैंक बाजार.कॉम के सीईओ आदिल शेट्टी के मुताबिक, “निवेशकों को निवेश से पहले थोड़ा बड़ा सोचना चाहिए. बेहतर रिटर्न के लिए डोमेस्टिक मार्केट के अलावा इंटरनेशनल फंड्स में निवेश के विकल्प पर भी विचार किया जा सकता है. हालांकि अधिकतर भारतीय निवेश के लिए डोमेस्टिक मार्केट में इंवेस्टमेंट करना ही ज्यादा पसंद करते हैं.”

निवेश करना सीखें

निवेश खरीदने के लिए बहुत सारे साहित्य और रणनीतियाँ हैं और खरीदने के लिए सही निवेश निवेश क्या है? क्या हैं। हालांकि, निवेशकों को अक्सर यह जानना मुश्किल होता है कि किसी उपकरण से बाहर कब निकलना है। इस प्रकार का निर्णय उन निवेशकों को लेना है जिन्होंने निम्नलिखित उपकरणों में निवेश किया है:

वायदा, विकल्प, स्वैप

निवेश कब बेचना है?

बहुत कुछ इस बात पर निर्भर करता है कि निवेशक कब किसी साधन से बाहर निकलने का फैसला करता है। निवेशकों को लाभ कमाने के लिए उत्सुक होने के साथ-साथ निवेश करने में नुकसान उठाना पड़ता है। यह विपरीत व्यवहार किसी निवेशक के लिए यह भविष्यवाणी करना मुश्किल बनाता है कि निवेश कब बेचा जाना चाहिए।

निवेश बेचने के लिए कोई सही समय निर्धारित नहीं है। जब निवेशक निवेश बेचेंगे तो उसके कुछ कारण हैं:

नुकसान करने वाले निवेश से बाहर निकलें

निवेश निवेश क्या है? अपने लक्ष्य पर पहुँच गया है

ELSS में जुलाई में 48 फीसदी घट गया निवेश, क्‍या आपको अब डालना चाहिए पैसा? क्‍या है एक्‍सपर्ट की राय

ईएलएसएस में किए गए निवेश पर आयकर अधिनियिम की धारा 80 सी के तहत टैक्‍स छूट मिलती है.

ईएलएसएस में किए गए निवेश पर आयकर अधिनियिम की धारा 80 सी के तहत टैक्‍स छूट मिलती है.

ईएलएसएस फंड्स (ELSS mutual fund) लॉन्‍ग टर्म में बड़ा फंड बनाने वाला वो फ्लेक्‍सी कैप फंड. ईएलएसएस में किए गए निवेश पर आयकर अधिनियिम की धारा 80 सी के तहत टैक्‍स छूट मिलती है. इसका लॉक इन पीरियड तीन साल है.

  • News18Hindi
  • Last Updated : August 11, 2022, 12:24 IST
ELSS में जुलाई में 327.85 करोड़ रुपये का पॉजिटिव इनफ्लो रहा है. जून में यह आंकड़ा 640.06 करोड़ रुपये रहा था.
लॉन्‍ग टर्म में बड़ा फंड बनाने और टैक्‍स लाभ लेने के लिए इस ELSS फंड्स में निवेश अब भी फायदे का सौदा है.
हमेशा ही इक्विटी ने अन्‍य एसेट क्‍लास के मुकाबले लॉन्‍ग टर्म में बेहतर रिटर्न दिया है.

नई दिल्‍ली. एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (AMFI) के ताजा आंकड़ों के अनुसार, इक्विटी म्‍यूचुअल फंड्स (Equity Mutual Funds) में होने वाले निवेश में जुलाई, 2022 में 42 फीसदी की गिरावट आई है. ईएलएसएस फंड्स (ELSS mutual fund) में निवेश में भी 48 फीसदी की गिरावट आई है. ईएलएसएस में जुलाई में 327.85 करोड़ रुपये का पॉजिटिव इनफ्लो रहा निवेश क्या है? है. जून में यह आंकड़ा 640.06 करोड़ रुपये रहा था. ईएलएसएस फंड्स का नेट एसेट्स अंडर मैनेजमेंट जून के 1,34,225.70 करोड़ रुपये बढ़कर 1,47,910.92 करोड़ रुपये रहा है.

इंटरनेशनल फंड में निवेश करना कितना सही? जानिए क्या है इसका नफा-नुकसान

इंटरनेशनल फंड में निवेश करना कितना सही? जानिए क्या है इसका नफा-नुकसान

इंटरनेशनल फंड में निवेश से आपको न सिर्फ वैश्विक बाजार में एक्सपोजर का मौका मिलेगा, बल्कि दुसरे देशों की प्रगति से भी आप लाभ कमा सकते हैं.

Why you should invest in international funds: अगर आप एक निवेशक के तौर पर अपने पोर्टफोलियो को बढ़ाना चाहते हैं तो इंटरनेशनल फंड आप के लिए अच्छा विकल्प हो सकता है. इससे आपको न सिर्फ इंटनेशनल मार्किट में एक्सपोजर का मौका मिलेगा, बल्कि इससे आपको अच्छा रिटर्न भी मिलेगा. इंटरनेशनल फंड ऐसे म्यूचुअल फंड हैं, जिनके जरिए एक देश में रहने वाले निवेशक दूसरे देशों की कंपनियों में पैसे लगा सकते हैं. यानी भारत में रहने वाला एक निवेशक इंटरनेशनल फंड के जरिए अमेरिका या ब्रिटेन की किसी कंपनी के शेयर्स में निवेश कर सकता है. डॉलर के मुकाबले में रुपये में होने वाली निवेश क्या है? गिरावट का इंटरनेशनल फंड पर असर नहीं होता है.

ELSS में जुलाई में 48 फीसदी घट गया निवेश, क्‍या आपको अब डालना चाहिए पैसा? क्‍या है एक्‍सपर्ट की राय

ईएलएसएस में किए गए निवेश पर आयकर अधिनियिम की धारा 80 सी के तहत टैक्‍स छूट मिलती है.

ईएलएसएस में किए गए निवेश पर आयकर अधिनियिम की धारा 80 सी के तहत टैक्‍स छूट मिलती है.

ईएलएसएस फंड्स (ELSS mutual fund) लॉन्‍ग टर्म में बड़ा फंड बनाने वाला वो फ्लेक्‍सी कैप फंड. ईएलएसएस में किए गए निवेश पर आयकर अधिनियिम की धारा 80 सी के तहत टैक्‍स छूट मिलती है. इसका लॉक इन पीरियड तीन साल है.

  • News18Hindi
  • Last Updated : August 11, 2022, 12:24 IST
ELSS में जुलाई में 327.85 करोड़ रुपये का पॉजिटिव इनफ्लो रहा है. जून में यह आंकड़ा 640.06 करोड़ रुपये रहा था.
लॉन्‍ग टर्म में बड़ा फंड बनाने और टैक्‍स लाभ लेने के लिए निवेश क्या है? इस ELSS फंड्स में निवेश अब भी फायदे का सौदा है.
हमेशा ही इक्विटी ने अन्‍य एसेट क्‍लास के मुकाबले लॉन्‍ग टर्म में बेहतर रिटर्न दिया है.

नई दिल्‍ली. एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (AMFI) के ताजा आंकड़ों के अनुसार, इक्विटी म्‍यूचुअल फंड्स (Equity Mutual Funds) में होने वाले निवेश में जुलाई, 2022 में 42 फीसदी की गिरावट आई है. ईएलएसएस फंड्स (ELSS mutual fund) में निवेश में भी 48 फीसदी की गिरावट आई है. ईएलएसएस में जुलाई में 327.85 करोड़ रुपये का पॉजिटिव इनफ्लो रहा है. जून में यह आंकड़ा 640.06 करोड़ रुपये रहा था. ईएलएसएस फंड्स का नेट एसेट्स अंडर मैनेजमेंट जून के 1,34,225.70 करोड़ रुपये बढ़कर 1,47,910.92 करोड़ रुपये रहा है.

भारत निवेश पोर्टल - भारत में निवेश करने से संबंधित जानकारी प्राप्त करें

मुख्य पृष्ठ

निवेशकों के लिए भारत के विभिन्न क्षेत्रों में निवेश के विकल्प मौजूद हैं। आप आधारिक संरचना, औषधनिर्माण, ऑटोमोबाइल, शिक्षा एवं कई अन्य क्षेत्रों में निवेश कर सकते हैं। आप भारत के बारे में, यहाँ की निवेश नीतियों एवं इससे संबंधित उपलब्ध अवसरों, संयुक्त उद्यमों एवं भारत में व्यापार करने संबंधी अन्य जानकारियाँ निवेश क्या है? यहाँ से प्राप्त कर सकते हैं। भारत में निवेश करने से संबंधित विभिन्न सर्वेक्षणों एवं विश्लेषणों, भारतीय निवेश विवरणिका एवं संदर्शिका (गाइड) इत्यादि की भी जानकारी यहाँ दी गई है।

रेटिंग: 4.94
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 106
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *